दशहरा से दशहरा तक 6% से ज्यादा टूटा बाजार, आइए जानें कहां हैं कमाई के मौके

बाजार के जानकारों का कहना है कि दुनिया भर में ब्याज दरों में बढ़ोतरी और बढ़ती महंगाई की वजह से ग्लोबल ग्रोथ पर दबाव देखा जा सकता है.

हालांकि, इससे भारतीय शेयर बाजार के लिए किसी बड़ी परेशानी की उम्मीद नहीं है। भारतीय बाजार आगे भी अपना बेहतर प्रदर्शन जारी रखेगा।

बताते चलें कि सेंसेक्स-निफ्टी पिछले दशहरे से अब तक 6 फीसदी से ज्यादा फिसल गए हैं। 

2011 के बाद पहली बार सेंसेक्स और निफ्टी में इतनी बड़ी गिरावट आई है। गौरतलब है कि इस साल दशहरा 5 अक्टूबर यानि कल मनाया जाएगा।

दशहरे से लेकर दशहरे तक विदेशी निवेशकों ने भारतीय शेयर बाजार में करीब 27.78 अरब डॉलर की बिक्री की है.

जबकि इसी अवधि में घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 3.17 लाख करोड़ रुपये की खरीदारी की है।

बाजार में गिरावट का कारण कमजोर वैश्विक संकेत, रुपये में कमजोरी, एफआईआई की बिकवाली और यूएस फेड सहित अन्य सभी केंद्रीय बैंकों की मौद्रिक नीतियों का कड़ा होना रहा है।

रिलायंस सिक्योरिटीज के मितुल शाह का कहना है कि वित्त वर्ष 2023 में हम निफ्टी को 19000 के स्तर को छूते हुए देख सकते हैं।

Read More Stories