Corporate Bonds क्या हैं ? इसमें निवेश का क्या तरीका है?

Corporate Bonds क्या हैं ? इसमें निवेश का क्या तरीका है?

कॉरपोरेट बॉन्ड का इस्तेमाल कंपनियां फंड जुटाने के लिए करती हैं। इसमें निवेश करने वाले निवेशकों को पूर्व निर्धारित दर पर ब्याज मिलता है।

बॉन्ड की मैच्योरिटी के बाद निवेशकों को पैसा वापस कर दिया जाता है।

कॉर्पोरेट बॉन्ड्स कई तरह के होते हैं। इनमें सामान्य बॉन्ड्स, टैक्स-फ्री AAA-रेटिंग वाले पीएसयू बॉन्ड्स और पर्पेचुअल बॉन्ड्स शामिल हैं, 

जिनकी ब्याज दर अपेक्षाकृत अधिक है। रेटिंग एजेंसियां कंपनियों के बॉन्ड को अपनी रेटिंग देती हैं।

कंपनियां पब्लिक इश्यू के तहत बॉन्ड जारी करती हैं। लेकिन, वे ज्यादातर प्राइवेट प्लेसमेंट के जरिए बॉन्ड जारी करके पैसा जुटाते हैं।

बॉन्ड हाउस और अन्य बिचौलियों के माध्यम से भी बॉन्ड में निवेश किया जा सकता है।

आप ब्रोकर के जरिए स्टॉक एक्सचेंजों (NSE/BSE) से भी बॉन्ड्स खरीद सकते हैं। 

ऑनलाइन बॉन्ड प्लेटफॉर्म से भी बॉन्ड खरीदे जा सकते हैं। 

कॉरपोरेट बॉन्ड बाजार में नकदी की समस्या है। कॉरपोरेट बॉन्ड में इक्विटी और सरकारी बॉन्ड की तुलना में बहुत कम ट्रेडिंग वॉल्यूम होता है।