दिवाली से पहले शेयर बाजार में करनी होगी दमदार कमाई, तो इन 10 बातों पर रखें नजर

विकसित देशों में मंदी की आशंका, मिले-जुले नतीजे और कमजोर आर्थिक आंकड़ों के बीच 14 अक्टूबर को समाप्त सप्ताह के दौरान बाजार करीब आधा फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुआ।

बीएसई सेंसेक्स (BSE Sensex) 271 अंक गिरकर 57,920 पर और निफ्टी50 (Nifty50) 129 अंक गिरकर 17,186 पर आ गया। 

बैंकों और आईटी कंपनियों में खरीदारी ने बाजार में गिरावट को सीमित कर दिया। ऑटो, एनर्जी, एफएमसीजी, इंफ्रा, मेटल और ऑयल एंड गैस कंपनियों के शेयरों पर दबाव बना रहा।

रेलिगेयर ब्रोकिंग के वीपी-रिसर्च अजित मिश्रा ने कहा, कंपनियों के नतीजों और ग्लोबल मार्केट में दबाव के बीच उतार-चढ़ाव बना रहेगा। 

अगले हफ्ते इन 10 बातों पर रहेगी बाजार की नजर

इस सप्ताह ACC,  Nestle India, UltraTech Cement, Asian Paints, Axis Bank, Bajaj Finance,Bajaj Finserv, Hindustan Unilever, Reliance Industries सहित 300 से ज्यादा कंपनियों के तिमाही नतीजे जारी होंगे।

अमेरिका का इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन, चीन के जीडीपी के आंकड़े 

अगले हफ्ते बाजार की इन अन्य ग्लोबल इकोनॉमिक डाटा पर भी नजर रहेगी 

एक्सपर्ट्स को आने वाले हफ्तों में रुपये के डॉलर की तुलना में 84-85 के स्तर पर जाने का अनुमान है। 

एफआईआई का रुख : विदेशी संस्थागत निवेशक भारत सहित उभरते बाजारों से पूंजी निकाल रहे हैं, क्योंकि फेडरल रिजर्व सहित केंद्रीय बैंक ब्याज दरों में वृद्धि जारी रखते हैं।

economic data : 14 अक्टूबर को समाप्त सप्ताह के लिए विदेशी मुद्रा के आंकड़े 21 अक्टूबर को जारी किए जाएंगे। 7 अक्टूबर को समाप्त पखवाड़े के लिए बैंक ऋण और जमा वृद्धि के आंकड़े भी उसी दिन जारी किए जाएंगे।

Technical View: जानकारों ने कहा, निफ्टी का साप्ताहिक घाटा 14 अक्टूबर की रैली से नीचे आया। यह इंगित करता है कि व्यापार कुछ समय और एक सीमा में जारी रहेगा।

एफएंडओ संकेत ऑप्शन डाटा से संकेत मिलते हैं कि निफ्टी की रेंज 16,800-17,700 रह सकती है, वहीं तात्कालिक रेंज 17,000-17,500 रह सकती है।

एफएंडओ संकेत ऑप्शन डाटा से संकेत मिलते हैं कि निफ्टी की रेंज 16,800-17,700 रह सकती है, वहीं तात्कालिक रेंज 17,000-17,500 रह सकती है।

Read More Storis