शेयर खरीदने का सही समय क्या है 2022

Ei post ko share Karo

हेलो दोस्तों क्या आप शेयर खरीदने का सही समय क्या है ढूंढ रहा है तो आप सही वीडियो पर आए हैं इसी पोस्ट में आपको अच्छे से डिटेल में बताने की कोशिश करूंगा तो इस पोस्ट को ऑन तक देखते रहिए और लास्ट में आपका मतामत जरूर नीचे देख कर जाइएगा ।

मेरा नाम सुजन दास है और मैं बीते 5 सालों से स्टॉक मार्केट के बारे में छे खासा नॉलेज बना चुका हूं । इसलिए आज इस पोस्ट में हम लोग बताने की कोशिश करेंगे कि शेयर खरीदने का सही समय क्या होना चाहिए

चलिए शुरू करते हैं आज का टॉपिक ।
तो दोस्तों मैं पहले ही बता देना चाहता हूं मैं लॉन्ग टर्म के बात करता हूं और इन्वेस्टिंग के बारे में अच्छा खासा नॉलेज देता हूं अगर आप ट्रेडर है तो आपके लिए यह पोस्ट नहीं है आप जाकर दूसरा और एक पोस्ट देख सकती है या तो फिर नीचे कमेंट कर सकती है । अगर आप इन्वेस्टमेंट करते हैं तो आपके लिए पोस्ट है कि स्टॉक बाई कब करना चाहिए । तो एक जली उसका टाइमिंग क्या होना चाहिए । उसका लेवल क्या होना चाहिए ऐसे ही बहुत सारा सवाल का जवाब इसी पोस्ट में आपको मिल जाएगा । ऐसे ही बहुत सारा सवाल आपके मन में आ सकती है तो सभी का जवाब इसी पोस्ट में आपको मिल जाएगा । तो ऐसी पोस्ट में उनका प्रैक्टिकल जवाब देना चाहता हूं ।


और जितने भी चीज है मैं बताने की कोशिश करूंगा वह अपनी एक्सपीरियंस के हिसाब से बात करूंगा तो इनमें से आपको अच्छा भी लग सकती है कोई पॉइंट खराब भी लग सकते वह आपकी मर्जी है आप मानो या ना मानो होना तो वही होगा । और एक बात बता दो दोस्तों की सुननी सबकी है करनी खुद की है क्योंकि पैसा आपका है आपको ही डिसिशन लेना है । क्योंकि पैसा आपका डूबेगा तो तो दूसरों का कोई नुकसान नहीं होगा , इसी तरह से अगर आप पैसा कमाओगे तो दूसरों का भी कोई फायदा नहीं होगा तो इसी बात को याद में रखना कि सुन्नी सबकी है करनी खुद की है ।
तो दोस्तों इस पोस्ट में आपका सवाल का बहुत ही सिंपल सा प्रॉब्लम के हिसाब से डिस्कस किया हूं तो शेयर खरीदने के टाइम पर आपको ए प्रॉब्लम हो सकती है ।

शेयर खरीदने का सही समय

शेयर खरीदने का सही समय क्या है, शेयर खरीदने का सही समय, शेयर खरीदने का तरीका
शेयर खरीदने का सही समय
  • Timing
  • Price and level
  • Stock going up
  • Stock going down

बादशाह डालो का एक प्रॉब्लम होता है कि शेयर खरीदने का सही भी टाइमिंग क्या होता है उसी के साथ साथ से ही प्राइस में कब लेना चाहिए किस लेवल पर शेयर आने पर उसको खरीदना चाहिए शेयर खरीदने जाता हूं तभी शेयर भाग जाता है शेयर खरीदने के बाद शेयर गिर जाता तो क्या होता है यह सब सवालों का जवाब किसी पोस्ट में आपको देने की कोशिश करूंगा । मतलब बाइक से रिलेटेड कब खरीदना चाहिए इस से रिलेटेड बहुत सारा चीज है जो आप को समझना चाहिए वही आपको इसी पोस्ट में डिटेल्स में डिस्कस करने वाला हूं ।

नीचे जो जो पॉइंट आपको बताने वाला हूं उसको आपको नोट करना होगा चाहे आप किसी बुक में नोट कीजिए किसी नोटबुक में नोट कीजिए या तो फिर मोबाइल की नोटबुक में भी आप लोड कर सकते हैं इसका सबसे बड़ा रीजन है अगर आप इस पोस्ट को पढ़ने के बाद भूल जाते हैं आपको याद नहीं रहेगा अगर किसी नोटबुक में यह सब बातें लिख कर रहेंगे तो बाद में भी आप देख कर उसको दोबारा ऐड कर सकती है ।

तो शेयर खरीदने के लिए यह सारी बातें मेरा नहीं है दुनिया का सबसे बड़ा इन्वेस्टर Warren buffet का है जो आपको याद रखना चाहिए ।

  1. Our favourite holding Period is forever
    तो दोस्तों सबसे पहले ऑरेंज बर्फी ने यह कहा है कि की कि कोई भी शहर में जब मैं एंटर कर लेता हूं तो उसका होल्डिंग period hai forever । इसका मतलब है दोस्तों मैं जब उस शेयर को बाय करता हूं तब उस शहर को बेचने की बात ही नहीं करता हूं जब तक उससे हर में जान है जब तक कुछ कंपनी का प्रॉफिट लगातार बढ़ते ही रहते हैं तब उस शहर को बाय करके मैं hold करता ही रहता हूं ।
  2. If you are not willing to own a stock for 10 years, do not even think about Owning for 10 minutes .
    इसका मतलब है दोस्तों अगर आप शेयर खरीदने जाते हैं तो उस शेयर को कम से कम 10 साल तक होल्ड करने कि आपके अंदर कमता होना चाहिए नहीं तो उस शेयर को दोस्त मिनट के लिए भी बाय मत करना ।

इसे सुनकर बहुत सारे लोग भी बोलेंगे सर हम लोग क्या सुना है यह सारी बातें लेकिन उन लोगों को बताना चाहूंगा स्कॉट के पीछे जो असली सच्चाई है या बात बताई गई है उसको गौर से कभी सोचने समझने की कोशिश किया है क्या आपने एक बार बता दीजिएगा । वारंट वापस जी यह कहना चाहते हैं कि मेरा फेवरेट है फॉरएवर मैं ऐसा कंपनी चुनता हूं जिसे मैं कभी सेल करने की जरूरत ही नहीं आए । कंपनी अच्छा से अच्छा मजबूत कंपनी है । जो के लॉन्ग लोंग टाइम तक अच्छा खासा बिजनेस में काम करते ही रहते हैं तो उस शेयर को मैं बाइक करके फॉरएवर रह जाता हूं ।

इसके बाद आपके मन में यह भी सवाल आ सकते हैं कि सर यह पोस्ट तो शेयर खरीदने का सही समय क्या होना चाहिए इसके ऊपर होना चाहिए लेकिन आप तो कहे कुछ और रहे हो वही तो दोस्तों मैं आपके base क्लियर कर रहा हूं एक नॉर्मल पोस्ट नहीं है जो जाए और पानी का लेवल बता देता हूं ऐसा नहीं है आपको गहराई से समझना होगा कि कौन सा स्टॉक कब और कैसे खरीदना चाहिए और कौन सा स्टॉक नहीं खरीदना चाहिए इसके बारे में अच्छे से नॉलेज देने की कोशिश करता हूं ।

अगर आपको लगता है कि उस कंपनी का बिजनेस में बहुत दम है तो आप उस शेयर प्राइस कितना भी हो उसी टाइम पर बाईं आ सकती हो । मान लीजिए किसी शेयर का प्राइस आज ₹100 है अगर आपको लगता है कि उस कंपनी का बिजनेस बहुत अच्छा है और आगे भी 10-20 सालों तक इस कंपनी का बिजनेस चलता ही रहेगा और भविष्य में उसका शेयर प्राइस 10,000 भी हो सकती है ता को किसी भी लेवल पर उस कंपनी में इन्वेस्ट कर सकती है ।

  1. Be Fearful When Others Are Greedy and Greedy When Others Are Fearful

दोस्तों इस quote का मतलब है जब मार्केट में की मॉल हो और डर के मारे बहुत सारे लोग अपना शेयर बेचने लग जाए तब आपको खरीदना चाहिए और जब बहुत सारे लोग खरीदना लग जाता है तब आपको डरना चाहिए ।

इसको का मतलब है दोस्तों जब बहुत सारा लोग अपना डर के मारे शेयर बेचने लग जाए तब आपको अच्छा कंपनी का क्वॉलिटी स्टॉक्स सस्ते दाम पर मिल जाएगा यही टाइम होता है शेयर खरीदना का सही टाइम ।

शेयर खरीदने का सही समय क्या है

1. मार्किट क्रश में ख़रीदे

तो दोस्तों सबसे आसान और सबसे मुश्किल जो टाइम होता है शेयर खरीदने का पोहे मार्केट क्रश में खरीदने का । क्योंकि इस टाइम पर ही बहुत सारा लोग डर जाते हैं और अपना पूरा पोर्टफोलियो या खाली कर देता है लेकिन आपको ऐसा नहीं करना चाहिए बल्कि अच्छा कंपनी का शेयर धीरे धीरे अपने पोर्टफोलियो में भरते रहना चाहिए ।

शेयर खरीदने का सही समय होता है दोस्तों मार्केट क्रैश का जब भी बहुत सारे लोग डर के मारे मार्केट से निकल जाता है और अच्छा कंपनी का शेयर आपको एकदम सस्ते में मिल रहा है तब आपको धीरे धीरे अच्छा स्टॉक्स ऐड करते रहना है । मार्केट गिरने के डर से आपको घबराना नहीं चाहिए कोई भी स्टॉक खरीदने से पहले उस कंपनी का बिजनेस के बारे में सोचिए अगर वह बिजनेस आगे long-term तक चलती रहेगी तो उसका शेयर प्राइस भी लोंग टर्म में ऊपर जाना ही है चाहे कितना भी रिसेशन आ जाए कितना भी गाना आ जाए कितना भी भूकंप आ जाए या कोई भी गड़बड़ी आ जाए अगर कंपनी बहुत मजबूत है तो उसको जाना ही ऊपर है ।
इसके लिए दोस्तों मेरा एक सबसे बड़ा कोर्ट है कि “इंसान हो या शेयर जाना सब के ऊपर ही है “।

2. Buy on dip per khareed rahe

जब भी अच्छा कंपनी का शेयर उसकी एक अच्छा खासा सपोर्ट में आते रहे तब भी आपको बायोएडिट में इन्वेस्ट करना है लग जाना चाहिए । बाय आनंदित एक ऐसा मेथड है जो आपको लॉन्ग टाइम में करोड़पति बना का ही छोड़े गए और आपका पैसा भी ज्यादा safe रखेगी बाकी के कंप्यूटर में ।

क्योंकि अपने तब से यार कि खरीदा है जब उससे और का एक बटन पर आ चुका है और उस शेयर में बार-बार रेसिस्टेंट या अपार स्टैंड फेस किया है उसी पर ही शेयर अटका जाता है ज्यादा गिरने की भी संभावना नहीं होता है तब अगर आप खरीदते हैं तो आपको उससे ज्यादा गिरने की उम्मीद नहीं होती है क्योंकि उसी पॉइंट पर आकर को शेयर सपोर्ट लेता है ।
अगर बाई चांस उससे भी नीचे और शेयर गिरता है तो ज्यादा से ज्यादा 15 से 20 परसेंट ही गिरेगा इससे ज्यादा नहीं गिरता है कोई भी शेयर । अगर उस एयर भागने लग जाता है तब को long-term में अच्छा खासा प्रॉफिट कमा कर देता ही है ।
शेयर खरीदने का सही समय सबसे अच्छा है की buy on dips में आप अपना शेयर खरीद रहे ।

3. Sip मैं शेयर खरीदना

इस मेथड सबसे यूज़फुल है । क्योंकि दोस्तों आप मार्केट को बिना टाइम किए ही आप एक डेट फिक्स कर लेते हो कि मुझे इस तारीख को इस शेयर में इन्वेस्ट करना ही होगा चाहे मार्केट कितना भी गिरे चाहे मार्केट कितना भी ऊपर जाए मुझे नहीं देखना है आप उस कंपनी का बिजनेस में इन्वेस्ट करते ही रहते हैं । और यही है दोस्तों सबसे आसान और इजी तरीका क्योंकि किस मेथड की वजह से आप long-term में करोड़पति बन ही जाएंगे ‌।

क्योंकि आप कंपनी की शेयर प्राइस को नहीं देख रहे हैं कंपनी का बिजनेस को देख रहे हैं ।
अहमद सबसे अच्छा काम करता है सैलेरी पर्सन के लिए क्योंकि उन लोगों को एक निर्दिष्ट टाइम में पैसा आता है और उसको को मार्केट में लगा देता है और मार्केट के बारे में ज्यादा नॉलेज की जरूरत भी नहीं पड़ता है इन लोगों को टेंशन फ्री long-term में के लोग ही ज्यादा पैसा कमाता है ।

4. सेक्टर की PE से नीचे

जब भी कोई कंपनी उस कंपनी का सेक्टर के बी PE KE नीचे आ जाता है तब उस शेयर में अच्छा खासा डिस्काउंट मिल जाता है तभी आपको उस कंपनी में इंटर है ।

अगर आप किसी अच्छी कंपनी के शेयर खरीदने की सोच रहे हैं तो आपको सबसे पहले कंपनी का पीई और कंपनी जिस सेक्टर से जुड़ी है उसका एवरेज पीई देखना होगा। उस क्षेत्र के पीई से कंपनी का पीई जितना कम होगा, आने वाले दिनों में उस कंपनी के शेयर की कीमत में अच्छी उछाल दिखाने की पूरी उम्मीद है।

जब भी कंपनी का PE सेक्टर PE सेक्टर से कम गिरता हुआ दिखे तो आपको उस कंपनी के स्टॉक में कम मात्रा में निवेश करना शुरू कर देना चाहिए, इससे आपको लंबे समय में यह कंपनी अच्छा रिटर्न देने वाली है।

5. कंपनी के Intrinsic value में खरीदारी

किसी भी स्टॉक को लंबे समय तक खरीदने का सही समय कंपनी का आंतरिक मूल्य है, आपको कभी भी बढ़ते स्टॉक या higher level pe में निवेश नहीं करना चाहिए। ज्यादातर समय किसी न किसी वजह से हर छोटी-बड़ी कंपनी के शेयर की कीमत उसके Intrinsic value में आजाती है, तब दोस्तों उन शेयर को बाइक आने की अच्छा टाइम होता है और आपको भी उसी टाइम पर अच्छा खासा डिस्काउंट पर उसे हर मिल जाएगा आपको उसी टाइम पर बाइ करना चाहिए ।

जब भी किसी कंपनी का Intrinsic value के नीचे उस share trade करने लग जाता है तभी उस शेयर को आपको बाइ कर लेना चाहिए अगर आपको नहीं पता है क्या कि कैसे किसी कंपनी का Intrinsic value कैसे निकाले तो जरूर नीचे कमेंट कीजिए ?

शेयर कब खरीदना चाहिए

6. लगातर बढ़ती अच्छी रिजल्ट को देखके

जब भी किसी कंपनी लगातार बढ़ती अच्छी रेचल को पेश करते ही जा रहे हैं तभी उस कंपनी को आप को खरीदना चाहिए क्योंकि ओ कंपनी आने वाले दिनों में अच्छा मुनाफा कमा कर देने की छमता भी रकती है । क्योंकि उस कंपनी का अच्छे रिजल्ट पेश करते ही रहती है । और उस कंपनी का बिजनेस में बहुत ग्रोथ देखने को मिलता है तभी तो वह कंपनी अच्छे रिजल्ट पेश करती ही रही है तबको ऐसा कंपनी में जरूर इन्वेस्ट करना चाहिए ।

7. कॉम्पिटेटिव एडवांटेज

कोई भी शेयर खरीदने से पहले कंपनी क्या बिजनेस करते हैं इसके बारे में जानने की कोशिश कीजिए अगर वह आपको मालूम है तो देखिए उस कंपनी का कंप्यूटर टाइप एडवांटेज क्या है जिसे हम लोग एक monopoli business भी बोलते हैं ।

उस कंपनी के अंदर ऐसा क्या है जो बाकी दूसरे उस सेक्टर की कंपनी से अलग करती है ।
चलिए दोस्तों एक एग्जांपल से ही समझने की कोशिश करते हैं जैसे कि मान लीजिए पिडीलाइट का फेमस बैंड फेविकोल हम लोग मार्केट में जाकर डायरेक्ट दुकानदार से फेविकोल ही बोलते हैं नहीं ग्लु बोलते हैं । ऐसा कंपनी के अंदर आपको इन्वेस्ट जरूर करना चाहिए जो एक मोनोपोली रखती है ।

मोनोपोली दोनों टाइप का होता है । केके खुद से बनाया गया मोनोपोली और दूसरा है गवर्नमेंट के द्वारा बनाया गया मोनोपोली । आपको देखना है उस कंपनी का मोनोपली किस टाइप का है अगर कंपनी खुद से वो मोनोपली क्रिएट किया है तो कंपनी अच्छा है अगर वो कंपनी गवर्नमेंट कर डाला मोनोपोली किया जा रहा है तो कंपनी आगे जाकर मोनोपोली नहीं रह सकती है जैसे कि IRCTC, irfc, iex .
यह सारे कंपनी को गवर्नमेंट डरा मोनोपली किया क्या है बाद में जाकर यह कंपनी मोनोपोली मेरी भी रह सकती है कोई गारंटी नहीं है ।

इसके अलावा में भी दोस्तों जिस कंपनी में कंपटीशन एडवांटेज नहीं है उस कंपनी का शेयर भी आपको नहीं खरीदना चाहिए । जैसे कि एक एग्जांपल दे देते हैं पेटीएम का । पेटीएम एक ऑनलाइन मनी ट्रांसफर ऐप है जिओ फ्यूचर के पैसा के लेनदेन के कामकाज करता है । इनके सारे बहुत कंपनी है जो एक काम करता है जैसे कि Google pay phone pay roser pe Bharat pe uske baad Amazon pe bahut sara Company जो इस कंपनी के अंदर कोई भी एडवांटेज नहीं है तो इन सारे कंपनी का शेयर आपको नहीं खरीदना चाहिए ।

8. फ्यूचर स्कॉप में काम करने वाली कंपनी

जैसे दोस्तों आपको पता ही होगा हमारा इंडिया एक ग्रोइंग कंट्री है । इसमें अभी भी बहुत डेवलपमेंट बाकी है । तो आप कोई फ्यूचर का परीक्षण करते हो उस कंपनी को फाइंड करना चाहिए जो फ्यूचर में काम करने के लिए अभी से ही तैयारी कर रहा है जैसे कि दोस्तों आपको पता ही होगा कि आने वाले दिनों का इलेक्ट्रिक व्हीकल सेक्टर तेजी में हमारा इंडिया में भी वुम करेगा ।

बहुत सारा देशों में इलेक्ट्रिक व्हीकल का काम चालू भी हो चुका है और बहुत आगे भी निकल चुका है जैसे कि अमरीका में टेस्ला कार हर लोगों की घर में आना-जाना लग गया है लेकिन हमारा इंडिया इस मामले में बहुत पीछे हैं आपको देखना पड़ेगा किया 5 साल 10 साल के बाद कौन सा कंपनी फ्यूचर में अच्छा कर सकती है एग्जांपल बताओ तो दोस्तों tata galaxy Tata elxsi अगर आपने 5 साल पहले ही इस कंपनी में इन्वेस्ट किया होता तो आपका पैसा लगभग 10 गुना हो जाता ।

9.कंपनी के बिज़नस की डिमांड

अगर किसी कंपनी का बिजनेस के डिमांड बहुत बढ़ गई है और लोग उस कंपनी का प्रोडक्ट हो बहुत यूज कर रही है सबको उस कंपनी में बेझिझक पैसा लगाना चाहिए क्योंकि उस कंपनी का बिजनेस के अंदर बहुत पोटेंशियल है तभी तो बहुत सारा लोग उस कंपनी को कब प्रोडक्ट यूज करने में इंटरेस्टेड है । इसी तरह से कंपनी का बिजनेस भी आगे बहुत ग्रोथ करेगी ।
भविस्य में प्रोडक्ट की ग्रोथ को देखते हुवे उस कंपनी में आपको इंग्लिश जरूर करना चाहिए । क्योंकि यह दुनिया मार्केट के डिमांड एंड सप्लाई में चलता है जिस कंपनी का डिमांड ज्यादा है उस कंपनी का शेयर पेज पर जाना निश्चित है । चाहे कितना भी रिसेशंस ,बांध ,तूफान आ जाए ।

शेयर कब खरीदना नहीं चाहिए

1.भागते हुए मार्केट में शेयर खरीदें

जब भी दोस्तों मार्केट में है बोल रहा ना जाए तब आपको शेयर नहीं खरीदना चाहिए चाहे वह कितना भी अच्छा कंपनी हो आपको उस कंपनी में इन्वेस्ट नहीं करना चाहिए जब भी वह कंपनी गिरती है तभी आपको इन्वेस्ट करना चाहिए हायर लेवल पर कभी भी इन्वेस्ट मत कीजिएगा ।

2. Uper circuit mein share karidna nahi chahiye

जब भी किसी शेयर में अपर सर्किट या लोअर सर्किट में काम करती है उस शहर से आप जितना हो सके बच के रहना क्योंकि जब भी मार्केट गिरेगा तब आपको शेयर सेल करने की भी मौका नहीं देगा तो उसी हिसाब से आपको इस टाइप की कंपनी कम से कम अपने पोर्टफोलियो में रखना चाहिए ।
और कभी भी अप्पर सर्किट में इन्वेस्टमेंट नहीं करना चाहिए ओ कंपनी कितना भी अच्छा हो कितना भी खराब हो क्यों ।

3. हाई डिमांड स्टॉक को ना ख़रीदे

जिस कंपनी का स्टॉक्स का बहुत डिमांड है और इस ट्रक का प्राइस गिरने का नाम ही नहीं ले रहा है उस कंपनी में आपको थोड़ा सा डरना चाहिए । जब बेस कंपनी में करेक्शन हो तब उस कंपनी में इन्वेस्ट करने के बारे में सोच सकती है ।

4. ऑपरेटर का गंदा खेल

आज के टाइम पर बहुत सारा स्टॉक में ऐसा हो चुका है कि ऑपरेटर का गंदा खेल चल रहा है । इसे आपको बचना चाहिए कंपनी का पोपट तो नहीं बढ़ रहा है लेकिन शेयर प्राइस बहुत तेजी से बढ़ रहा है क्योंकि ऑपरेटर ने उससे में जमकर खरीदारी करते रहती है ।
अगर आपको ऑपरेटर कौन है पता नहीं है तो आप हमारी यह पोस्ट जरूर देखें – operator kon hai ? kase kam karta he ?

शेयर खरीदने का तरीका

अगर दोस्तों किसी भी शेयर खरीदने का तरीका आपको मालूम नहीं है तो पहले आप हमारा यह वाला पोस्ट जरूर देखें – koivi share karidne se pahle in 7 bate ko jarur check karna

  • फिर भी दोस्तों शॉर्ट में आपको बताने की कोशिश कर रहा हूं । पहले कंपनी का बैलेंस शीट चेक कीजिए ।
  • कंपनी का बिजनेस क्या है ।
  • कंपनी कौन चलाता है और वह कहां का रहने वाला है और कैसे कंपनी शुरू किया था और कब एक कंपनी बनी थी ।
  • कंपनी का past में कितना रिटर्न दिया है ।
  • कंपनी फ्यूचर में कितना ग्रो करने की पोटेंशियल है ।
  • कंपनी का प्रोडक्ट में फ्यूचर में कितना डिमांड रह सकती है ।

यह सब चेक करने के बाद अब मुद्दे पर आना चाहिए कि शेयर खरीदने का तरीका क्या होना चाहिए आपको । कंपनी किस कैटेगरी में आता है । कंपनी large cap, midcap small cap है .

  • अगर कंपनी large cap है तो लगभग 20 से 30 परसेंट डाउन पर शेयर खरीदना चाहिए ।
  • अगर कंपनी midcap है तो लगभग 30 से 45 पर्सन तक गिरने पर उस कंपनी का शेयर खरीदना चाहिए ।
  • अगर कंपनी small cap है तो लगभग 40 – 60 परसेंट गिरने पर शेयर खरीदना चाहिए ।

अगर यह तरीका अपनाएंगे तो ज्यादा से ज्यादा स्टॉक मार्केट में टिक पाओगे और मार्केट में loss होने की संभावना बहुत कम हो जाएगी ।

शेयर कब खरीदें (FAQ)

क्या कोई भी कंपनी के शेयर प्राइस कम होने पर खरीदना सही रहेगा ?

ऐसा कतई नहीं है, अगर किसी कंपनी के शेयर की कीमत घटती नजर आती है तो सबसे पहले कंपनी को एक अच्छा विश्लेषण करना चाहिए, अगर कंपनी का business अच्छा है और गिरावट का कोई बड़ा कारण नहीं है, तो आपको चाहिए कि उस स्टॉक में निवेश करें। आप सोच सकते हैं ।

शेयर खरीदने का सही समय क्या है ?

ऐसे तो दोस्तों शेयर खरीदने का सही टाइम ही नहीं होती है आप जब चाहे तब शेयर खरीद सकते हैं फिर भी बात कर दो 2:00 से 3:30 तक शेयर खरीदने का सही समय होता है किस टाइम पर पता चल जाता है कि शेयर गिरेगा कि ऊपर जाएगा ।

मुझे शेयर कब बेचना चाहिए ?

इस बात का कोई जवाब नहीं है दोस्तों फिर भी दोस्तों आपको बताना चाहूंगा जब भी आपकी पैसे की जरूरत हो या बड़ी मुसीबत में फंस चुकी हो । तभी आपको शेयर बेचना चाहिए इसके अलावा कैपिटल गेन को इंजॉय करने के लिए शेयर को बेचना नहीं चाहिए । कि आपने देखा कि मेरा पैसा डबल हो गया है आप भेज कर निकल जाओ ऐसा गलती आपको नहीं करना चाहिए क्योंकि वह कंपनी अगर आपके पैसे को डबल कर सकती है तो और भी पोटेंशियल है कि और भी आपको पैसा बनाकर देने की क्षमता रखती है ।

शेयर खरीदने से पहले क्या देखें?

किसी भी स्टॉक को खरीदने से पहले, सबसे महत्वपूर्ण बात जो हर निवेशक को देखनी चाहिए, वह है कंपनी की किस तरह की बिजनेस करता है कंपनी कौन चलाता है कंपनी हर साल पोपट कम आता है कि नहीं कमाता है तो कितना कमाता है कंपनी का बैकग्राउंड क्या है कंपनी कब बनी है और कंपनी का owner,Co,cfo, manager director कौन है । कंपनी का शेयर प्राइस कैसे ऊपर नीचे होता है कंपनी का शेयर कितना परसेंटेज गिरता है यह सब कुछ आपको किसी भी शेयर खरीदने से पहले ही देखना चाहिए ।

मुझे उम्मीद है दोस्त आपको हमारी यह पोस्ट शेयर खरीदने का सही समय क्या है के बारे में अच्छे से जानकारी मिल गया होगा अगर और भी कोई आपके मन में डाउट है तो जरूर नीचे कमेंट कर सकती है आज के लिए बस इतना ही मिलते हैं और एक नया पोस्ट में ।


Ei post ko share Karo

Leave a Comment

x