IPO kya hota hai 2023

हेलो दोस्तों आज की पोस्ट में शेयर मार्केट के बारे में IPO kya hota hai क्या आपको आईपीओ में इन्वेस्ट करना चाहिए । अगर इन्वेस्ट करना ही चाहिए तो कैसे इसको खरीदते । कौन सा IPO आपको खरीदना चाहिए । अगर उसके बारे में जानना चाहते हैं इस पोस्ट को आगे तक पढ़ते रहे किसी ऐसी पोस्ट में हम लोग बात करने वाले हैं –
1) IPO kya hota hai?
2) IPO kharidne kya fayda ?
3) IPO kharidna chahie ya nahi ?
4) IPO kaise kharide ?
5) IPO ka full form kya hota hai?

तो दोस्तों इस पोस्ट को आखिर तक पढ़ते रहें ताकि आपको सारी बात समझ में आए कि आईपीओ मैं आपको क्यों इन्वेस्ट करना चाहिए और क्यों नहीं इशारे बातें इस पोस्ट को देखने के बाद आपकी डाउट क्लियर हो जाएगी ।

ipo kya hota hai

ipo full form in hindi, ipo full form in share market in hindi, ipo kya hai, ipo kya hota hai, ipo matlab kya hota hai, ipo me paisa kaise lagaye, ipo meaning in hindi, ipo me share kaise kharide, ipo के फायदे और नुकसान, ipo के नुकसान, ipo कैसे खरीदें, ipo से पैसे कैसे कमाए,
ipo kya hai

इस सारे जानकारी मैं देने वाला हूं तो इस पोस्ट को आखिर तक देखते रहे क्योंकि इस पोस्ट को देखने के बाद आपको दूसरा किसी पोस्ट को देखने का जरूरत नहीं है तो चलिए दोस्तों ऊपर के दे गए सारे जानकारी मैं स्टेप by स्टेप बताने की कोशिश करूंगा ।

इस पोस्ट को आगे बढ़ने से पहले मैं आपको बताना चाह नहीं है आपके पास शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने के लिए अकाउंट नहीं है तो शेयर मार्केट में अकाउंट खोलने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें ।
groww app me demat account kaise banaye 2022

ipo full form in hindi

तो दोस्तों सबसे पहले आईपीओ का बेसिक जान लेना चाहिए । IPO ka full form hota hai – initial public offering ।  IPO मतलब होता है जब भी कोई प्राइवेट कंपनी पहली बार शेयर मार्केट में लिस्टेड होता है तो उस कंपनी को पब्लिक कंपनी बनना पड़ता है ‌। मार्केट में पहली बार लिस्ट होती है और अपना शेयर पहली बार बेचने जाते हैं तो होता है आईपीओ ।
आईपीओ निकालने के बाद कोई भी कंपनी प्राइवेट नहीं रहता है बल्कि पब्लिक बन जाता है क्योंकि इसमें पब्लिक का पैसा इस कंपनी में लग जाता है इसीलिए पब्लिक कभी पैसा लग जाता है ।

अब आपके मन में सवाल आता है कि आईपीओ कंपनी क्यों निकालती है और अपने शेयर क्यों बेचना चाहते है यह बात समझने के लिए मैं आपको एक एग्जांपल देना चाहता हूं ।

मान लीजिए मेरे एक कंपनी है 100 करोड़ की उसका टोटल वैल्यूएशन 100 करोड़ की है । अब मैं क्या करना चाहता हूं कि उस कंपनी को इंटरनेशनल करना चाहता हूं । इसके लिए हमें 25 करोड़ की रुपया की जरूरत पड़ेगी । यादों पर 25 करोड़ के लिए बैंक से ले लूं अगर मैं बैंक से लोन लेता हूं तो इसके लिए मेरे को हर महीने ब्याज पर करना पड़ेगा । अगर लोन लुक्का तो पैसा भी देना पड़ेगा और सर पर के ऊपर बहुत बोझ रह जाएगा ऐसे तो मेरा सब कुछ लूट जाएगा ।

तो इससे अच्छा है कि मैं अपना कंपनी का शेयर मार्केट में लिस्टेड कर दो और पब्लिक से पैसा लो । उसके बाद लोग मेरे कपड़े का शेयर करेंगे पैसा अकाउंट में आ जाएगा ।  जिससे मैं बिजनेस कर सकूं ऐसे तो मेरा कंपनी का फायदा हुआ आप लोगों का फायदा होगा ।

IPO kharidne ka fayda क्या-क्या hai ?

तो आप लोगों का क्या फायदा है आप लोगों ने आईपीओ का शेयर खरीदे तो ।
i) buy chip and earn More :- जब भी कोई कंपनी शेयर मार्केट में आती है ऑर लिस्टेट होती है तो आपको उस कंपनी का शेयर सबसे सस्ता प्राइस में बाई करने की एक अपॉर्चुनिटी मिल जाते हैं । और कुछ टाइम के बाद ही वो शेयर का प्राइस दो से तीन को ना इसलिए भरने की क्षमता रखते हैं अगर वह कंपनी अच्छे होते हैं तो ।

Example:- चलिए दोस्तों कुछ एग्जांपल भी दे देते 20 सितंबर 2020 को route mobile share आईपीओ रिलीज हुआ था तब उसका प्राइस था  ₹350 और कुछ दिन के बाद ही को लगभग हजार रुपया के आस पास चला गया लगभग 10 से 12 दिन के अंदर वह शेयर 3 गुना हो गए ।
अगर ₹1 लाख लगाया होता तो कुछ दिन के बाद ही को 4 लाख हो जाता ।
ऐसे ही दोस्तों 17 सितंबर 2020 को happiest mind technology IPO रिलीज हुआ था तब उसका इसु प्राइस था ₹166 और उसका 10 दिन बाद ही शेयर लगभग ₹400 के आसपास चला गया था वह भी 3 गुना बढ़ गया था ।

ii) price transparency :- इसके बाद दूसरा फायदा होता है ट्रांसपेरेंसी का । पहले के जमाने में शेयर का सर्टिफिकेट देखने को मिलता था लेकिन आज के टाइम पर सब कुछ डिजिटली हो चुका है । तो आपको आपने मोबाइल एप्लीकेशन के ऊपर देखने को मिल जाएगा कि उस कंपनी आज के टाइम पर किस प्राइज पर ट्रेड कर रहा है ।

iii) more growth chances :- uske bad teesra fayda yah hota hai ki doston ए तो कंपनी अपने लोन को चुकता करना चाहती है या फिर अपने बिजनेस को और भी एक्सपेंड कहने की कोशिश कर रहा है दोनों ही तरफ से कंपनी को फायदा होगा और कंपनी को फायदा होगा तो आपको भी फायदा होने वाला है । अगर कंपनी फ्यूचर में अपने बिजनेस को ग्रुप कर पाया तो उसका शेयर प्राइस भी बहुत तेजी से बढ़ेगा और उसी के साथ-साथ आपका भी शेयर प्राइस उसी परसेंटेज के हिसाब से बनेगा और आपको बहुत फायदा होगा ।

ऊपर के सारे बातें सुनकर आपको लग रहा होगा कि आईपीओ में इन्वेस्ट करना बहुत ही फायदेमंद होता है ‌ । आपको लग रहा होगा कि आईपीओ का मैं बहुत तारीफ कर रहा हूं लेकिन दोस्तों जिस तरह से फायदा भी होता है उसी तरह से नुकसान भी हो जाता है कि आपको ध्यान रखना पड़ता है जितना रिक्स है उतना ही रिटर्न मिलने की चांसेस भी होता है ।

लेकिन आप बंद करके किसी भी कंपनी का आईपीओ खरीद मत लेना । अपने खुद का भी रिचार्ज करना जरूरी होता है कि कंपनी अच्छा है कि नहीं । क्योंकि बहुत सारा कंपनी शुरुआती दिनों में भागने के बाद भी गिर जाता है । यहां पर मैं आपको सच्चा लेते बताने की कोशिश कर रहा हूं डिसिशन आपको लेना है ।
तो अगर आपने डिसाइड कर लिया है कि आपको आईपीओ में इन्वेस्ट करना चाहिए सबसे पहले आपको कुछ बातें ध्यान देना जरूरी होता है ।

ipo meaning in hindi

1) सबसे पहले एक बात आप को ध्यान में रखना पड़ेगा कि अगर आपने आईपीओ में अप्लाई कर दिया है।  तो यह जरूरी नहीं है कि आपको हर आईपीओ एलॉटमेंट मिल जाएगा या अप्लाई करने के बाद भी कई सारे लोगों को आईपीओ एलॉटमेंट नहीं होता है ।
एग्जांपल है दोस्तों मान लीजिए किसी कंपनी का 100000 शेयर यीशु किया गया है और 200000 लोगों ने उसका अप्लाई किया है तो कहां से देंगे इतने लोगों को सिंपल सी बात एक लाख लोगों को रिजेक्ट करना पड़ेगा ।
2) आईपीओ में आपने मान लीजिए कि इसी कंपनी का 5-10 शेयर खरीद के रख दूंगा ऐसा नहीं होता है । आपको आईपीओ में लोट साइज के हिसाब से खरीदना पड़ेगा । चाहे एक लोट में 50 शेयर हो या 100 शेयर । अगर आप एक लोट खरीदना चाहते हैं तो लगभग 14 से 16000 के बीच पड़ता है और आप जितना भी लौट बढ़ाते चाहते हैं उसे इससे मल्टीपल करते जाइए ।
3) इसके अलावा भी आप मैक्सिमम कितना लौट खरीद सकते हैं उसका भी हिसाब किया रहता है जो कंपनी ने आईपीओ लेकर आया है वहां पर ।
4) अरे भी जरूरी नहीं है दोस्तों कि आप जितना लौट के लिए अप्लाई किया है आपको उतना ही लौट मिल जाएगा उस से कम भी मिल सकता है ।

IPO kharidne ka nuksan क्या-क्या hota hai?

आईपीओ खरीदने का नुकसान यह होता है कि दोस्तों मान लीजिए अपने कोई भी आईपीओ खरीदा उसके बाद उस कंपनी का शेयर प्राइस कुछ दिन के बाद ही बहुत ही जाता है सबको कैपिटल लॉस होने की संभावना भी है ।
दूसरा बिना सोचे समझे कोई भी आईपीओ में इन्वेस्ट करने से आपका पैसा पूरी तरीके से फास सकता है ।
कई सारी आईपीओ का तो लॉकिंग पीरियड में भी आती है कि उस टाइम तक आप उस कंपनी से अपना पैसा नहीं निकल सकते इसमें उस टाइम तक आते-आते अगर उस कंपनी का शेयर प्राइस बहुत नीचे चला जाता है तो बहुत बड़ा नुकसान की संभावना होती है ।

आईपीओ में इन्वेस्ट करने के लिए मिनिमम आपको ₹15000 के 1 नोट मिल जाएगा इससे कम नहीं ज्यादातर लोगों के पास एक भी नहीं होता है इन्वेस्ट करने के लिए ।

दोस्तों मुझे उम्मीद है कि आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लगी है । आईपीओ क्या है आईपीओ खरीदने का फायदा क्या है इन सब बातों की आपके मन में जो भी सवाल था वह पूरा हो चुका है इससे भी अगर आपको संतुष्टि नहीं मिली आपके मन में जो भी सवाल है और जरूर नीचे कमेंट कर सकती है अगर नहीं है तो मिलते हैं और एक नए पोस्ट में उससे पहले हमारे वेबसाइट को फॉलो कीजिएगा दोस्तों आज के लिए बस इतना ही ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x
RHI Magnesita के शेयर 5 दिन में 26% उछले, एक खबर से रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा स्टॉक थोड़ी सी वृद्धि के साथ बाजार बंद हो गया, जानिए गुरुवार को कैसी रह सकती है चाल दो साल में 200% का रिटर्न देनी वाली इस इंफ्रा कंपनी ने किया Stock-Split का ऐलान, जानें रिकॉर्ड डेट निफ्टी ने पार किया 18,000 का लेवल, कल कैसी रहेगी निफ्टी की चाल ये 10 शेयर 3-4 हफ्ते में बदल सकते हैं आपकी किस्मत Mindtree का स्टॉक करीब 3% गिरा, क्या थी वजह और अब स्टॉक में रहें या निकल जाएं शुक्रवार 28 अक्टूबर को निफ्टी कैसे चलेगा इन 3 शेयरों में निवेश करने से 2-3 हफ्ते में 20 फीसदी तक की कमाई हो सकती है 7 दिन की तेजी पर ब्रेक, एक्सपर्ट्स से जानिए कैसे आगे बढ़ेगा बाजार