equity shares meaning in hindi 2022 । इक्विटी शेयर क्या है

Share This Post

हेलो दोस्तों आज की पोस्ट में हम लोग बात करने वाले हैं कि equity shares meaning in hindi । स्टॉक मार्केट में इक्विटी का मतलब क्या होता है , इसके अलावा इक्विटी ट्रेडिंग और इक्विटी इन्वेस्टिंग इन दोनों का भी क्या मतलब है ।  आज की पोस्ट में सारे सवाल की जवाब हम लोग देने वाला है तो इस पोस्ट को आखिर तक देखते रहे इसके अलावा भी इक्विटी से रिलेटेड आपके मन में कोई भी सवाल हो तो उसका भी सलूशन इस पोस्ट में आपको देखने को मिल जाएगा ।

तो दोस्तों आपको पहले ही बता हो तुम मेरा नाम सुजन दास है और मैं बीते 5 सालों से स्टॉक मार्केट के बारे में अच्छा खासा नॉलेज केन कर चुका हूं इसी के बेसिस पर आज की पोस्ट लिखा गया है । तो आप इस छोटी सी पोस्ट को आखिर तक पढ़ते रहे और इक्विटी के बारे में अच्छे से जानकारी लीजिए । चलिए शुरू कर लेते हैं आज की पोस्ट के कबारे में …

equity shares meaning in hindi

equity shares meaning in hindi, equity meaning in share market in hindi, equity meaning in hindi, equity meaning in business in hindi, इक्विटी मार्केट क्या है, इक्विटी फंड क्या है, इक्विटी शेयर क्या है, इक्विटी अनुदान क्या है,
equity shares meaning in hindi । इक्विटी शेयर क्या है

नमस्कार दोस्तों आपको हमारी वेबसाइट में स्वागत है अगर हमारी वेबसाइट में स्टॉक मार्केट से रिलेटेड आर्टिकल दिल्ली पोस्ट किया जाता है अगर आपको स्टॉक मार्केट के बारे में नॉलेज लेना है तो आप हमारी ऑनसाइट को भी फॉलो कर सकते हैं और इसके अलावा भी फेसबुक टि्वटर और अन्य सोशल साइट भी फॉलो कर सकती है ।

तो आइए जानते हैं इक्विटी क्या होती है ?

equity meaning in hindi इसका मतलब होता है दोस्तों  किसी बिजनेस के ओनरशिप हम जानते हैं कि किसी कंपनी का शेयर को बाइ अंदर से हम उस कंपनी का एक छोटा पाठ खरीदते हैं और उटने परसेंट हिस्सेदारी का मालिक बन जाते । इन्वेस्टिंग के नॉलेज में आप उस छोटे पाठ कोई इक्विटी कहते हैं ।

अगर आपने किसी कंपनी का शेयर खरीदते हैं तो आप उस कंपनी का इक्विटी को खरीदा है ।

equity meaning in business in hindi

चलिए आपकी से एग्जांपल से समझ लेते हैं – मान लीजिए किसी दो दोस्त ने एक कंपनी शुरू किया है और उसका लगभग 10 करोड़ की कंपनी बना चुका है । इसके हिसाब से दोनों दोस्त 5-5 करोड़ की फिफ्टी फिफ्टी परसेंट इक्विटी की मालिक है । फोर्ड कंपनी की लीगल नोटिस में कंपनी के शेयर को लगभग एक करोड़ शेयर में डिवाइड किया । उन लोगों ने डिसाइड किया है कंपनी में सभी ने बराबर हिस्सेदारी में काम । इसलिए दोनों ने अपनी कंपनी को हिस्सेदारी को दोनों ने बराबर बांट लिया है । तो इसी तरह से आप हम लोग कह सकते हैं हंड्रेड परसेंट ओनरशिप इक्विटी कंपनी के दो फाउंडर के पास ही है ।

  आगे भी उस कंपनी को पूरा करने के लिए और आप मान लेते कुछ टाइमपास बाद कंपनी का बिजनेस को एक्सपेंड करने के लिए और 5 करोड़ की जरूरत है । इसलिए दोनों फाउंडर ने डिसाइड किया कि 50 परसेंट विधि मार्केट में आईपीओ की शुरू लिस्ट कर देगा । पब्लिक से टोटल ₹50000000 रेस करेगा । सितारों से देखे तो कंपनी ने एक लाख पर कंपनी का 1 परसेंट की एक बेटे को एक पार्सल से डिवाइड कर दिया अगर हम एक लव अफेयर खरीद लेते तो हम उस कंपनी का 1% इक्विटी का मालिक बन जाते ।

तो दोस्तों इसी तरह से किसी कंपनी का और कुछ नहीं बल्कि ओनरशिप हिस्सेदारी बता दी है । कंपनियां इक्विटी शेयर में डिवाइड करके पब्लिक में सेल करती है एक इन्वेस्टर किसी कंपनी का जितने शेयर बाय करते हैं उनके पास उस कंपनी का उतना ज्यादा इक्विटी होते जाते रहते यार उस उतना ही उस कंपनी का हिस्सेदार बन जाते हैं ।

इसकी वजह है दोस्तों स्टॉक मार्केट को इक्विटी मार्केट और स्टॉक इन्वेस्टिंग को इक्विटी इन्वेस्टिंग बोला जाता है । अर स्टॉक ट्रेडिंग को इक्विटी ट्रेडिंग बोला जाता है ।

और दोस्तों हमेशा याद रखना कि कभी भी किसी कंपनी का स्टॉक कर देता है तो आप उस कंपनी का मालिक बन रहा है इसलिए उल्टे सीधे कंपनी का स्टॉक मत खरीदे और छोटा प्राइस देखकर शेयर मत खरीदे ताकि आपको ज्यादा से ज्यादा नुकसान ना हो और कभी भी किसी भी कंपनी का शेयर खरीदते तो आप उस कंपनी का शेयर प्राइस मत देखिए उस कंपनी का बिजनेस मॉडल देखिए और कंपनी का पैनल देखिए और उस कंपनी का मैनेजमेंट देखिए ताकि आप ज्यादा से ज्यादा नुकसान से बच सके और ज्यादा प्रॉफिट कमा सके ।

अगर आपको जानना है कि किसी भी कंपनी का शेयर करने से पहले क्या देखना चाहिए तो आप हमारी यह पोस्ट जरूर देख सकती है ।

read this post – Share Market Loss se bachne ka tips 2022

Equity Meaning in Hindi (FAQ)

इक्विटी और स्टॉक में क्या अंतर है?

मुख्य अंतर यह है कि इक्विटी एक कंपनी के शेयर, ट्रेडिंग या नहीं का प्रतिनिधित्व करती है, स्टॉक आम तौर पर एक कंपनी के ट्रेडिंग इक्विटी शेयर हैं जो स्टॉक एक्सचेंजों के माध्यम से आम जनता को जारी किए जा सकते हैं।

इक्विटी शेयरों के फायदे और नुकसान क्या हैं?

इक्विटी शेयर निवेश के लाभ लाभांश पात्रता, पूंजीगत लाभ, सीमित देयता, नियंत्रण, आय और संपत्ति पर दावा, सही शेयर, बोनस शेयर, तरलता, आदि हैं। नुकसान लाभांश अनिश्चितता, उच्च जोखिम, बाजार मूल्य में उतार-चढ़ाव, सीमित नियंत्रण, अवशिष्ट हैं।

इक्विटी और शेयर में क्या अंतर है?

इक्विटी यूनिट या अन्य मूल्यवान व्यावसायिक घटक शेयरों के स्वामित्व में है, जबकि शेयर उस व्यवसाय घटक में व्यक्ति के स्वामित्व अनुपात का माप हैं।

क्यों इक्विटी शेयर की कीमत ज्यादा होती है ?

इक्विटी की लागत अधिक होती है क्योंकि लाभांश और पूंजी के पुनर्भुगतान की अनिश्चितता होती है । इसलिए इक्विटी को हमेशा फंड के उच्च जोखिम वाले स्रोत के रूप में माना जाता है।

इक्विटी शेयर कौन जारी कर सकता है?

आम तौर पर, किसी कंपनी द्वारा आवश्यक पूंजी जुटाने के लिए जनता को इक्विटी शेयर जारी किए जाते हैं। एक बार ऐसा करने के बाद, कंपनी सेबी द्वारा निर्धारित नियमों और विनियमों के अनुसार आवेदकों को शेयर आवंटित करती है। इक्विटी शेयरों का अर्थ: इक्विटी शेयर एक फर्म के वित्त का मुख्य स्रोत हैं।

कंपनी में इक्विटी शेयर कैसे काम करता है?

किसी कंपनी में इक्विटी होने का मतलब है कि आपके पास उस कंपनी का आंशिक स्वामित्व है । यदि आपका नियोक्ता कुछ चुनिंदा कर्मचारियों को यह विकल्प प्रदान करता है, तो आपके स्वामित्व के प्रतिशत की संभावना अधिक है।

क्या इक्विटी शेयर कैपिटल एक संपत्ति है?

नहीं, इक्विटी शेयर पूंजी एक संपत्ति नहीं है । लेकिन जो निवेशक कंपनी के इक्विटी शेयर खरीदता है, वह दिए गए शेयरों के बदले में नकद लाता है। इससे कंपनी की संपत्ति में वृद्धि होती है। विक्रेताओं को उनके द्वारा प्रदान की गई आपूर्ति या कच्चे माल के आदान-प्रदान में भी इक्विटी शेयर जारी किए जा सकते हैं।

किसी कंपनी में 20% हिस्सेदारी का क्या मतलब है?

20% शेयरधारक का अर्थ एक ऐसे शेयरधारक से है जिसका शेयरों का कुल स्वामित्व (जैसा कि सामान्य समकक्षों के आधार पर निर्धारित किया गया है) सभी शेयरधारकों द्वारा शेयरों के कुल स्वामित्व (सामान्य समकक्षों के आधार पर निर्धारित) से विभाजित 20% या अधिक है।

क्या इक्विटी में निवेश करना अच्छा है?

एक इक्विटी निवेश से मुख्य लाभ निवेश की गई मूल राशि के मूल्य में वृद्धि की संभावना है । यह पूंजीगत लाभ और लाभांश के रूप में आता है। एक इक्विटी फंड निवेशकों को आमतौर पर न्यूनतम प्रारंभिक निवेश राशि के लिए एक विविध निवेश विकल्प प्रदान करता है।

इक्विटी मार्केट क्या है?

तो दोस्तों हम लोगों पर ही आपको पूरा डिटेल्स में बता दिया है फिर भी आपको शार्ट में बताने की कोशिश करते हैं स्टॉक मार्केट को ही इक्विटी मार्केट कहा जाता है कि यहां पर कंपनी को हिस्सेदारी बेचा जाता है और हिस्सेदारी को ही इक्विटी कहती है ।

इक्विटी फंड क्या है?

तो दोस्तों इक्विटी फंड है अगर किसी कंपनी का मेल हो मोटर या मैन कंपनी का मालिक को जब वह उसकी बिजनेस को चलाने के लिए पैसे की जरूरत पड़ता है और जितनी रुपया मार्केट से उठा रही है उसको ही इक्विटी फंड कहती है ।

इक्विटी शेयर क्या है?

कभी भी किसी कंपनी मार्केट में लिस्ट हो जाती है तब उस कंपनी को इक्विटी शेयर के अंदर गिनती किया जाता है ।

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है कि आपको हमारी यह पोस्ट equity shares meaning in hindi । इक्विटी मार्केट फंड शेयर क्या है इनके बारे में सब कुछ जानकारी मिल गया होगा इसके अलावा भी आपके मन में कोई भी सवाल हो तो जरूर नीचे कॉमन कर सकती है आज के लिए बस इतना ही मिलते हैं और एक पोस्ट पर देखते रहे हमारी दूसरी पोस्ट ।


Share This Post

Leave a Comment

x
5 मिनट में बनिए Market Expert, इस तरीके से आप खुद खोजें बेहतरीन शेयर… कमाएं पैसे Inox Green Energy IPO से जुड़ी डिटेल Top 10 trading Share : इन 10 शेयरों में 3-4 हफ्तों में हो सकती है छप्पर फाड़ कमाई सिर्फ 30 दिनों में 10% -18% रिटर्न चाहते हैं, ये शेयर में कड़े इन्वेस्ट Yes Bank के शेयर बन गए मल्टीबैगर, तीन महीनों में दिए 38% रिटर्न अगर आप अगले हफ्ते शेयर बाजार में कमाई करना चाहते हैं, तो इन 10 महत्वपूर्ण कारकों पर नजर रखें भारतीय मार्केट गिरने वाला है ,एक डॉलर का भाव 80.20 रुपये तक जा सकता है Patanjali Group IPO: रामदेव की पतंजलि लाएगी 4 कंपनियों के आईपीओ 2022 में 7 सबसे ज्‍यादा सब्‍सक्राइब होने वाले IPO