Equity Share Kya Hai । Equity Meaning In Share Market In Hindi 2022

Ei post ko share Karo

Equity Share Kya Hai । Equity Meaning In Share Market In Hindi 2022 । Equity market kya hai | Equity market meaning in hindi | Equity market definition in hindi | Types of Equity market in hindi . इक्विटी मार्केट की पूरी जानकारी

पिछली पोस्ट में हमने इक्विटी क्या है और इक्विटी कैपिटल के बारे में विस्तार से जाना था आज हम इक्विटी मार्केट के बारे में बात करने वाले हैं।

इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप Equity market के बारे में सब कुछ सीख जाएंगे तो आइए सबसे पहले जानते हैं-

Equity Share Kya Hai

equity share kya hai, equity meaning in share market in hindi, equity meaning in hindi in stock market, equity market in hindi, equity cash market in hindi, equity market kya hai , equity market meaning in hindi, equity share kya hota hai, share market equity tips in hindi, equity market kya hota hai, what is equity market in hindi, what is equity in share market in hindi, share market me equity kya hai, equity market hindi, equity trading kya hai, what is equity in stock market in hindi, equity trading kya hota hai,
equity share kya hai share market in hindi

Equity Meaning In Share Market In Hindi : इक्विटी बाजार एक ऐसा मंच है जहां खरीदार और विक्रेता शेयर खरीदते और बेचते हैं, इसलिए इक्विटी बाजार को शेयर बाजार या शेयर बाजार भी कहा जाता है क्योंकि यहां शेयरों का कारोबार होता है।

अगर आप भी शेयर खरीदना या बेचना चाहते हैं तो आप एनएसई यानी नेशनल स्टॉक एक्सचेंज और बीएसई यानी बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड कंपनियों के शेयर खरीद या बेच सकते हैं।
पुराने जमाने में आपको शेयर खरीदने या बेचने के लिए मुंबई स्टॉक एक्सचेंज में जाना पड़ता था लेकिन आजकल आप शेयरों का ऑनलाइन व्यापार कर सकते हैं, जिसके लिए आज कई ब्रोकर बाजार में आ गए हैं जैसे; एंजेल ब्रोकिंग, अपस्टॉक्स, ज़ेरोधा, कोटक सिक्योरिटीज आदि।
इक्विटी शेयर बाजार के अलावा और भी बाजार हैं जिनमें अलग-अलग चीजें खरीदी और बेची जाती हैं जैसे; मुद्रा बाजार में पैसा खरीदा या बेचा जाता है, डेरिवेटिव बाजार में वायदा और विकल्प, कमोडिटी बाजार में सोना, चांदी या तेल।

Read more post – Cmp Meaning In Stock Market In Hindi 2022

इक्विटी मार्केट कितने प्रकार का होता है?

Types of equity market in hindi-

इक्विटी मार्केट दो प्रकार का होता है-

प्राइमरी मार्केट
सेकेंडरी मार्केट

  1. प्राथमिक बाजार क्या है?

जब कोई कंपनी जनता से पैसा जुटाने के लिए पहली बार अपने शेयर जारी करती है और स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध होती है, तो इस प्रक्रिया को आईपीओ यानी इनिशियल पब्लिक ऑफर कहा जाता है।
जब लोग आईपीओ के माध्यम से जारी किए गए शेयरों को खरीदते हैं, तो जिस बाजार में इसे खरीदा जाता है उसे ‘प्राथमिक इक्विटी बाजार’ कहा जाता है।

  1. सेकेंडरी मार्केट क्या है?
    प्राथमिक बाजार में अपने शेयर बेचकर, कंपनी अपना पैसा इकट्ठा करती है और बाहर निकल जाती है और कंपनी शेयर बाजार में सूचीबद्ध हो जाती है।
    और लोगों ने कंपनी में जो शेयर खरीदे हैं वे स्टॉक एक्सचेंज में ट्रेड करते रहते हैं और उनकी कीमत समय के साथ बढ़ती या घटती रहती है।
    जैसे-जैसे लोग कंपनियों के अधिक शेयर खरीदना शुरू करते हैं तो इसकी कीमत बढ़ने लगती है और जब लोग ज्यादातर शेयर बेचने लगते हैं तो इक्विटी स्टॉक मार्केट में शेयर की कीमत घटने लगती है।
    इस स्थिति में जिस बाजार में शेयर का कारोबार होता है उसे सेकेंडरी मार्केट कहा जाता है यानी आईपीओ के बाद जब शेयर का कारोबार होता है तो सेकेंडरी मार्केट में उसका कारोबार होता है।

इक्विटी मार्केट काम कैसे करता है?
equity market in hindi – How does equity market works in hindi-

इक्विटी मार्केट में स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई या बीएसई) में लिस्टेड कंपनियों के शेयर खरीदे और बेचे जाते हैं। स्टॉक खरीदने या बेचने के लिए आपको एक ऑनलाइन ब्रोकर के माध्यम से एक डीमैट खाता खोलना होगा।

आपके द्वारा खरीदे गए शेयर डीमैट खाते में जमा होते हैं। आपके द्वारा खरीदे गए सभी शेयरों को डीमैटरियलाइज्ड रूप में संग्रहित किया जाता है। इसके अलावा यहां ट्रेडिंग अकाउंट भी होता है और इसके जरिए आप इक्विटी शेयर खरीदते और बेचते हैं।


इसके लिए आपको अपने ब्रोकर ऐप जैसे ज़ेरोधा या अपस्टॉक्स में अपने किसी बैंक के सेविंग अकाउंट के जरिए पैसे जोड़ने होंगे, जिसके जरिए आप स्टॉक की डिलीवरी लेते हैं या ट्रेडिंग करते हैं।
जब आप किसी स्टॉक की डिलीवरी लेते हैं, तो आप उसे 1 दिन से अधिक समय तक रखते हैं यानी अपने पास रखते हैं जबकि यदि आप उसी दिन स्टॉक खरीदते और बेचते हैं तो इसे इंट्राडे ट्रेडिंग कहा जाता है जिसमें ब्रोकर आपसे कुछ ब्रोकरेज मांगेगा। ब्रोकरेज फीस भी लेता है।

इक्विटी मार्केट में पैसा निवेश करना चाहिए या नहीं?

यह सबसे अधिक पूछे जाने वाले प्रश्नों में से एक है और सभी निवेशकों के लिए इसका उत्तर भी बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि जब भारत में बाजार में उछाल होता है यानि एक अपट्रेंड में होता है, तो कई नए निवेशक बिना सोचे समझे नहीं सोचते। इसमें पैसा लगाएं
और जब मार्केट क्रैश उतनी ही तेजी से होता है, तो लोग अपने खरीदे हुए शेयर बेच देते हैं और अपना पैसा निकाल लेते हैं, इस तरह ज्यादातर लोग हार जाते हैं।

तब लोग कहते हैं-
शेयर बाजार एक बुलबुला है और इसमें नुकसान ही होता है?


लेकिन ऐसा इसलिए नहीं है क्योंकि दुनिया के सबसे अमीर निवेशक वारेन बुफे और भारत के अरबपति राकेश झुनझुनवाला ने लगभग सारा पैसा शेयर बाजार से कमाया है, इसलिए यह कहना गलत है कि शेयर बाजार में नुकसान ही होता है।
अगर आप सीखने के लिए तैयार हैं तो आप शेयर बाजार से दुनिया के किसी भी निवेश से ज्यादा रिटर्न आसानी से कमा सकते हैं। लेकिन पहले आपको शेयर बाजार की बुनियादी बातों को समझना होगा कि आप हमारे ब्लॉग के अन्य पोस्ट पढ़ सकते हैं।


तो अगर आप मुझसे पूछें कि शेयर बाजार में निवेश करना है या नहीं? तो मैं आपको बताऊंगा कि शेयर बाजार में निवेश करने से पहले आपको बहुत कुछ सीखना होगा जैसे;
सबसे पहले आपको शेयर बाजार की बुनियादी शर्तों के बारे में पता होना चाहिए जैसे; बुल, बियर, सेबी, एनएसई, बीएसई, ब्रोकर, स्टॉक एक्सचेंज, डिबेंचर, बॉन्ड, फेस वैल्यू, बुक वैल्यू, मार्केट कैपिटलाइजेशन आदि।


इसके अलावा आपको मौलिक और तकनीकी विश्लेषण करने में सक्षम होना चाहिए। अगर आप लंबी अवधि के लिए इक्विटी मार्केट में निवेश करना चाहते हैं तो आपको फंडामेंटल एनालिसिस सीखना होगा और अगर आप ट्रेड करना चाहते हैं तो आपको टेक्निकल एनालिसिस का ज्ञान होना चाहिए।
इसके बाद आपको कंपनी के मैनेजमेंट और उसके बिजनेस मॉडल को अच्छी तरह से समझना चाहिए।

जब आप इन सभी चीजों को अच्छे से समझ लेते हैं केवल तभी आपको शेयर मार्केट में निवेश करना चाहिए वरना इस से दूर रहना चाहिए क्योंकि इसको सीखे आप शेयर बाजार में अपने पैसे का नुकसान कर सकते हैं।

equity cash market in hindi क्यों महत्वपूर्ण है?

इक्विटी मार्केट के क्या फायदे हैं और यह क्यों जरूरी है। इसके बारे में कुछ महत्वपूर्ण बिंदु नीचे दिए गए हैं-

किसी भी देश की अर्थव्यवस्था के विकास में इक्विटी बाजार या शेयर बाजार एक बड़ी भूमिका निभाता है।
देश की सबसे बड़ी कंपनियां जो शेयर बाजार में सूचीबद्ध हैं, उस देश की जीडीपी वृद्धि में बहुत योगदान करती हैं।
कंपनियों को अपना कारोबार बढ़ाने के लिए इक्विटी पूंजी की जरूरत होती है, जिसे आसानी से इक्विटी बाजार के जरिए जुटाया जा सकता है।


म्यूचुअल फंड भी अपना पैसा इक्विटी शेयर बाजार में निवेश करते हैं और आपके पैसे पर मल्टीबैगर रिटर्न अर्जित करके आपको देते हैं।
इक्विटी मार्केट के माध्यम से, आप बैंक, सावधि जमा (एफडी), बांड, पीपीएफ या किसी अन्य से अधिक रिटर्न अर्जित कर सकते हैं।


हमारे देश में निफ्टी और सेंसेक्स जितनी तेजी से ऊपर जाते हैं, उतनी ही तेजी से हमारे देश की अर्थव्यवस्था भी बढ़ती है।
निफ्टी और सेंसेक्स एक तरह का इंडेक्स है जो दर्शाता है कि हमारे देश की सबसे बड़ी कंपनियां कैसा प्रदर्शन कर रही हैं।
खुदरा निवेशक बड़ी कंपनियों के शेयर भी खरीद सकते हैं और उनमें स्वामित्व प्राप्त कर सकते हैं।
छोटे निवेशक किसी भी मौलिक रूप से मजबूत कंपनी के स्टॉक में पैसा लगाकर लंबे समय में अपने पैसे पर अच्छा रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं।
इक्विटी मार्केट या शेयर मार्केट को अच्छी तरह से सीखकर आप अच्छा खासा पैसा कमा सकते हैं।

FAQ’S Related To what is equity market in hindi

equity market kya hota hai ओर इस मे निवेश कैसे करें?

इसके लिए आपको तीन चीजें चाहिए: ट्रेडिंग अकाउंट, डीमैट अकाउंट और सेविंग अकाउंट। आज आप इन तीनों खातों को किसी भी ब्रोकर के माध्यम से ऑनलाइन खोल सकते हैं और इक्विटी शेयरों में निवेश शुरू कर सकते हैं।


equity market meaning in hindi ओर इस मे से पैसे कैसे कमाए ?


इक्विटी शेयर बाजार से पैसा कमाने के लिए आपको कम कीमत वाले शेयर खरीदने चाहिए और शेयर की कीमत बढ़ने पर उन्हें बेचना चाहिए, यानी जब शेयर ज्यादा कीमत पर बेचे जाते हैं। इस तरह आप अपने खरीदे गए स्टॉक पर अच्छा रिटर्न या मुनाफा कमा सकते हैं लेकिन ध्यान रखें कि आप जो स्टॉक खरीद रहे हैं वह मौलिक रूप से मजबूत होना चाहिए।
इक्विटी मार्केट में निवेश किए गए पैसे पर रिटर्न क्या है?


अगर कोई सोचता है कि वह इक्विटी मार्केट के जरिए स्टॉक खरीदकर अपने पैसे को दोगुना या गुणा कर सकता है तो मौलिक रूप से मजबूत कंपनी के शेयर खरीदकर संभव है लेकिन अगर आप किसी सस्ते स्टॉक में सिर्फ प्राइस चार्ट को देखकर निवेश करते हैं तो आप अपना पैसा कमा सकते हैं। आपको धन की हानि भी हो सकती है।


इक्विटी मार्केट में कितना जोखिम है?


जो लोग बिना सीखे शेयर बाजार में निवेश करते हैं, उनमें सबसे ज्यादा जोखिम होता है, वहीं दूसरी ओर जो लोग शेयर बाजार की मूल बातें अच्छी तरह से समझते हैं, वे मौलिक और तकनीकी अनुसंधान करना जानते हैं और किसी भी कंपनी के स्टॉक में निवेश करने से पहले। उनके बिजनेस को अच्छी तरह से समझ लें, ऐसे लोगों के लिए यह बाजार बिल्कुल भी जोखिम भरा नहीं है।
मुझे उम्मीद है कि आपको इस पोस्ट में दी गई जानकारी उपयोगी लगी होगी।


Ei post ko share Karo

Leave a Comment